ट्रेनें फुल, फेस्टिव स्पेशल का 'सहारा'

ट्रेनें फुल, फेस्टिव स्पेशल का ‘सहारा’

KANPUR : दिवाली पर मुंबई या दिल्ली रूट की ट्रेनों से सफर करना चाह रहे हैं और रिजर्वेशन नहीं करा सके हैं तो आप अभी इंतजार कर लें। क्योंकि दिवाली से छठ पूजा तक मुंबई और दिल्ली रूट की सभी ट्रेनें फुल हो चुकी हैं। शताब्दी, वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनें भी फुल हो चुकी है। इन रूटों पर बढ़ती डिमांड को देखकर रेलवे फेस्टिव स्पेशल ट्रेनें चलाने पर विचार कर रहा है। इसी सप्ताह निर्णय लिया जा सकता है। रेलवे आफिसर्स के मुताबिक, हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी रेल पैसेंजर्स की समस्याओं को देखते हुए दिल्ली-हावड़ा और गोरखपुर-मुम्बई रूटों में आधा दर्जन से अधिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया जाएगा।

एक दर्जन से अधिक ट्रेनें चलेंगी

रेलवे आफिसर्स के मुताबिक फेस्टिव सीजन होने से सभी ट्रेनों में लंबी वेटिंग चल रही है.पैसेंजर्स की इस प्रॉब्लम के सॉल्यूशन के लिए इसी सप्ताह रेलवे दिल्ली-हावड़ा रूट, मुम्बई रूम समेत विभिन्न रूटों में वाया कानपुर होकर लगभग एक दर्जन फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनों का संचालन करेगा। जिसमें पैसेंजर्स को त्योहार के दौरान अपने घर व त्योहार के बाद घर से अपने कार्यस्थल पहुंचने के लिए आसानी से ट्रेनों में रिजर्वेशन मिल जाएगा।

फेयर ज्यादा देना होगा

रेलवे की ओर से चलाई जाने वाली फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनों का फेयर नार्मल ट्रेनों की अपेक्षा थोड़ा ज्यादा होगा। पैसेंजर्स की डिमांड पर चलाई जाने वाली ट्रेनों का फेयर हमेशा नार्मल ट्रेनों से अधिक रहा है। आफिसर्स के मुताबिक फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन में स्लीपर के फेयर में लगभग 70 से 100 रुपए व एसी क्लास में लगभग 200 से 250 रुपए नार्मल ट्रेनों की अपेक्षा अधिक होते हैं।

मुम्बई रूट में अधिक मारा मारी

रेलवे आफिसर्स के मुताबिक कोरोना काल में मुम्बई, सूरत, अहमदाबाद रूट की ट्रेनों में काफी मारा मारी थी। जिसके चलते इन रूटों में कई कोविड स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया गया था। फेस्टिवल सीजन में पैसेंजर्स की संख्या बड़ी है। यहीं कारण है कि इन रूटों की ट्रेनों में फेस्टिवल के तीन से चार दिन पहले से छठ पूजा तक ट्रेनें फुल हो चुकी है। यहीं हालात कुछ दिल्ली-हावड़ा रूट की ट्रेनों के भी है।